Virtual Reality (VR) क्या है? और यह कैसे काम करता है?

0
Virtual Reality (VR) क्या है और यह कैसे काम करता है
Advertisements

नमस्कार दोस्तों! क्या आप जानते हैं Virtual Reality क्या है और कैसे काम करता है? बहुत सारे लोगों को यह नहीं पता होगा कि वर्चुअल रियलिटी क्या होता है और इसका उपयोग कैसे होता है अगर आप इसके बारे में जानते हैं तो अच्छी बात है अगर नहीं जानते हैं तो आज मैं आपको इस आर्टिकल में वर्चुअल रियलिटी के बारे में सारी जानकारी दूंगा।

और मैं आपको यह भी बताऊंगा कि वर्चुअल रियलिटी कैसे काम करता है और वर्चुअल रियलिटी के उपयोग क्या क्या है आज का ही आर्टिकल बहुत महत्वपूर्ण होने वाला है इसलिए आज आप इस आर्टिकल को पूरा अंत तक जरूर पर है ताकि आपको भी समझ में आए कि आखिरकार वर्चुअल रियलिटी क्या होता है और लोग इसका इस्तेमाल इन दिनों इतना ज्यादा क्यों कर रहे हैं।

आपने ऐसे कई सारे वीडियोस कीकैप्स देखे होंगे जिसमें कोई व्यक्ति बैठकर एक बड़े से चश्मे वाले बॉक्स के अंदर कुछ देखता है वह साइज में काफी ज्यादा बड़ा होता है और वह व्यक्ति उस समय ऐसा महसूस करता है कि जो वह वीडियोस में देख रहा है वह उसके साथ हकीकत में उसके सामने हो रहा है।

कई बार तो लोग Game Station या फिर Mall में इस तरह के Equipments को रखते हैं ताकि लोग आए और उसका इस्तेमाल करें। जब भी आप उस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते हैं तो आपको ऐसा महसूस होता है कि आप उसके अंदर जो भी चीजों को देख रहे हैं वह आपके साथ हो रहा है तो वर्चुअल रियलिटी एक तरीके का Advanced Technology हम कह सकते हैं जो कि हमें काल्पनिक दुनिया को हकीकत में Videos के द्वारा दिखाता है।

वर्चुअल रियलिटी क्या है? What is Virtual Reality in Hindi

वर्चुअल रियलिटी में एक ऐसा Simulated Environment बनाने के लिए कंप्यूटर की टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है जोकि हमें उसके अंदर दिखने वाले सारे दृश्य एकदम हकीकत के लगते हैं और उसमें ऐसा महसूस होता है कि जो भी चीज हम VR के अंदर देख रहे होते हैं वह हमारे सामने हो रहा होता है।

Users को ऐसा महसूस होता है जैसे कि वह एक वर्चुअल रियलिटी के दुनिया में चला गया है वह वहां मौजूद ऑब्जेक्ट्स को मैनिपुलेट करने और उस के माध्यम से उसे Navigate करने का एहसास भी करता है। वर्चुअल रियलिटी में व्यक्ति के सामने सिर्फ स्क्रीन ही नहीं होता है बल्कि वह व्यक्ति Third Dimension जिसे हम 3D भी कहते हैं उस दुनिया में वह इंसान चला जाता है और उस व्यक्ति को बिल्कुल वैसा ही महसूस होता है जैसे मानो उसके चारों तरफ एक नई दुनिया आ गई है।

वर्चुअल रियलिटी को इस तरह से बनाया जाता है कि जब आप वर्चुअल रियलिटी पर Base कोई भी Videos या फिर Games खिलते हैं तो आप उस कंप्यूटर के द्वारा बनाए गए दुनिया को हकीकत में महसूस भी करते हैं आपको ऐसा महसूस होता है जैसे आप उस Car Racing Game का एक हिस्सा बन चुके हैं और आप एक गाड़ी को चला रहे हैं यहां तक अगर उस कार का एक्सीडेंट हो जाता है तो भी आपको वह एक्सीडेंट महसूस होता है।

यह एक तरीके का Real World जैसा ही होता है जिसमें आपका शरीर आपका Body आपका Mind भी अच्छे से React करता है। जैसे कि अगर आपके गेम में आप का एक्सीडेंट हो जाता है तो आपके धड़कने बंद हो जाती है आंखों की पुतलियां फैल जाती है शरीर में पसीने बहने शुरू हो जाते हैं और यह सभी अनुभव आप वर्चुअल रियलिटी के द्वारा ही महसूस कर सकते हैं।

आपने अपने जीवन में कभी ना कभी 3D फिल्मों को Theatre मैं तो जरूर देखा होगा जब भी आप चश्मा लगाकर फिल्में देखते हैं तो आपको ऐसा महसूस होता है कि मानो वह फिल्म आपके सामने कट रहा है ठीक उसी तरह वर्चुअल रियालिटी टेक्नोलॉजी का भी इस्तेमाल करके आपको ऐसा महसूस होता है मानो कि आपके सामने सब कुछ हकीकत में हो रहा है।

Virtual Reality के बेहतरीन Features

वर्चुअल रियलिटी के कई सारे बेहतरीन फीचर से जिसके बारे में आपको जानकारी होना बहुत जरूरी है आप इन सभी फीचर्स का इस्तेमाल कर सकते हैं जब आप वर्चुअल रियलिटी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करेंगे आइए मैं आपको एक एक करके सभी फीचर्स के बारे में बताता हूं।

Believable

सबसे पहला फीचर्स तो यह होता है कि जब भी आप वर्चुअल रियालिटी का इस्तेमाल करते हैं तो आपको यह भरोसा हो जाता है कि हां आप जो भी वर्चुअल रियलिटी में देख रहे हैं वह हकीकत में आपके साथ हो रहा है या फिर आप उस दृश्य का एक हिस्सा बन चुके हैं तो जो भी आप वर्चुअल रियलिटी के अंदर देखते हैं वह आपके साथ होने का आपको अनुभव कराता है।

Interactive

वर्चुअल रियलिटी की जो टेक्नोलॉजी यह वह काफी पुरानी है इसे बने हुए काफी समय हो गया लेकिन इस टेक्नोलॉजी को कुछ साल पहले सभी लोग इस्तेमाल करना शुरू किए हैं इस वर्चुअल दुनिया को आपके साथ चलना होगा जिससे कि यह प्रतीत हो सके कि यह ज्यादा Interactive है और यदि यह ज्यादा Interactive ना देखें तब इसे वर्चुअल रियलिटी बिल्कुल भी नहीं कहा जा सकता है।

Computer Generated

वर्चुअल रियलिटी में जो भी चीजें दिखाई देती हैं जैसे कि वह कोई फिल्म हो गया या फिर वह कोई गेम हो गया उन सभी में ऐसा टेक्नोलॉजी इस्तेमाल किया जाता है जो कि एकदम हकीकत जैसा अनुभव कराता है और यह बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि इसे केवल Powerful Machines जिसमें की Realistic 3D कंप्यूटर ग्राफिक्स का इस्तेमाल किया जाता है और इसमें ऐसा टेक्नोलॉजी इस्तेमाल किया जाता है जिससे कि यह साफ साफ प्रतीत हो कि यह एकदम हकीकत वाली दुनिया है।

Explorable

जब भी हम वर्चुअल रियलिटी दुनिया में प्रवेश करते हैं तो हमें वह बहुत ही बड़ा दिखाई देता है और ऐसा होना भी चाहिए क्योंकि एक वर्चुअल रियलिटी दुनिया को बड़ा और Detailing दिखना होगा तभी उसे अच्छी तरीके से एक्स प्योर किया जा सकता है जितनी भी Realistic और Detailing हो लेकिन अगर इसमें ज्यादा डिटेल्स ना हो तब यह ज्यादा Explorable नहीं होता है एक बेहतर वर्चुअल रियलिटी के लिए इसका Explorable होना बहुत आवश्यक है।

Immersive

वर्चुअल रियलिटी दुनिया को ज्यादा से ज्यादा believable और interactive बनाने के लिए व्हाट्सएप रियालिटी को हमारे शरीर और हमारा दिमाग इन दोनों को जोड़ कर रखना होगा तभी जाकर वह दुनिया हमें हकीकत की दुनिया लगी थी और वह दुनिया हमें आकर्षित करेगी। और अगर हमें यह मालूम हो जाएगी वह दुनिया नकली है या फिर वर्चुअल रियलिटी में हो रहे चीजों से हमें यह समझ में आ जाए कि यह हकीकत में नहीं हो रहा है तो वर्चुअल रियलिटी दुनिया उतनी Real प्रतीत नहीं होगी।

इसलिए वर्चुअल रियलिटी की दुनिया एक बहुत ही अलग दुनिया होती है यह आपको सोचने के लिए एकदम मजबूर कर देते हैं कि हां आप बिल्कुल अपने दुनिया से निकलकर एक अलग वर्चुअल रियलिटी के दुनिया में चले गए हो और वहां पर जो भी चीजें आपके साथ में हो रही है वह एकदम हकीकत में आपके साथ में हो रही है और ऐसा अगर आपको महसूस होता है तभी वह वर्चुअल रियलिटी टेक्नोलॉजी असलियत में कहलाती है।

Virtual Reality के उपयोग

पहले के समय में वर्चुअल रियलिटी जैसी कोई भी चीज नहीं होती थी लेकिन धीरे-धीरे समय बदलता गया और टेक्नोलॉजी ने काफी तरक्की कर ली और कुछ साल पहले वर्चुअल रियलिटी को लोगों के बीच में लाया गया तब से लोग इसके बारे में जानकारी जानना चाहते हैं और सभी लोग वर्चुअल रियलिटी के उपयोग के बारे में भी जानकारी हासिल करना चाहते हैं इसीलिए मैं आप सभी लोगों को इसके उपयोग के बारे में बताने वाला हूं।

शिक्षा के क्षेत्र में उपयोग

वर्चुअल रियलिटी को शिक्षा के क्षेत्र में इस्तेमाल किया जा रहा है पहले इसका इस्तेमाल नहीं होता था लेकिन कुछ सालों से अब वर्चुअल रियलिटी को शिक्षा के क्षेत्र में इस्तेमाल किया जा रहा है क्योंकि इसकी टेक्नोलॉजी काफी High है जिससे कि बच्चे के भविष्य में बहुत ही मदद करने वाली है कुछ काम ऐसे होते हैं जिन्हें करने से पहले उनकी सही से ट्रेनिंग लेना बिल्कुल जरूरी होता है और इसी ट्रेनिंग के दौरान काम को अच्छी तरीके से पूरा करने के लिए वर्चुअल रियलिटी हमें मदद करती है।

वर्चुअल रियलिटी को शिक्षा के क्षेत्र में इसलिए इस्तेमाल किया जाता है ताकि बच्चे ऐसा हकीकत में महसूस करें कि उन्होंने किसी काम को हकीकत में किया है उदाहरण के लिए पायलट ट्रेनिंग, स्पेस ट्रिप, पैराशूट से जंपिंग, ब्रेन सर्जरी इत्यादि इन सभी चीजों को सीखने के लिए वर्चुअल रियालिटी काफी ज्यादा मदद करती है और बच्चे के भविष्य में यह काफी काम आता है।

मेडिकल क्षेत्र में उपयोग

वर्चुअल रियलिटी को मेडिकल क्षेत्र में भी इस्तेमाल किया जाना शुरू हो गया है यहां पर वर्चुअल रियलिटी तकनीक का उपयोग किसी सर्जिकल ट्रेनिंग और ड्रग डिजाइन करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है इसके इस्तेमाल से बिना किसी डर के ट्रेनिंग ली जा सकती है जहां मरीज को दर्द या फिर ट्रेनिंग के दौरान कोई गलती होने का रिस्क भी नहीं होता है।

मेडिकल के छात्रों को सिखाने के लिए वर्चुअल मरीजों का भी इस्तेमाल किया जाता है जिसके बाद वह अपनी काबिलियत को और भी ज्यादा आगे तक लेकर जाते हैं और उसे एकदम हकीकत दुनिया में अप्लाई करते हैं जिससे कि उनके भविष्य में वर्चुअल रियलिटी काफी हद सपोर्ट करती है।

फैशन के क्षेत्र में उपयोग

जाहिर सी बात है कि फैशन का क्षेत्र बहुत ही बड़ा क्षेत्र होता है और बहुत ही कम लोगों को इस बात की जानकारी होगी कि फैशन के क्षेत्र में भी वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन ऐसा नहीं है फैशन के क्षेत्र में वर्चुअल रियलिटी को बहुत बड़े पैमाने पर इस्तेमाल किया जाता है जैसे कि Retailer अपने Products को एक नकली स्टोर बनाकर प्रदूषित कर सकता है जो कि बिल्कुल असली स्टोर की तरह दिखाई देता है और कुछ मशहूर ब्रांड जैसे कि Tommy Hilfiger, Coach, Gap इत्यादि अपने बिजनेस में वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल शुरू से करते आ रहे हैं इसके इस्तेमाल से ग्राहक कपड़ों को वर्चुअल पहनकर भी Try कर सकता है।

मनोरंजन में क्षेत्र में उपयोग

मनोरंजन के क्षेत्र में भी वर्चुअल रियलिटी का इस्तेमाल किया जा रहा है जैसे कि बहुत सारे अलग-अलग गेम से जिसमें वर्चुअल टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है जो गेम खेलने के अनुभव को और अधिक बेहतर बनाता है जैसे कि उसमें ऐसा महसूस होता है कि मानो आप ही गाड़ी को चला रहे हो और जब उसमें एक्सीडेंट होता है वह भी आपको महसूस कराया जाता है जिसकी वजह से वर्चुअल रियलिटी तकनीक युवाओं के बीच में बहुत ही ज्यादा Demandable है।

Virtual Reality कैसे काम करता है?

वर्चुअल रियलिटी को दिखाने के लिए आमतौर पर 3D Content की आवश्यकता पड़ती है जैसे कि जब हम वर्चुअल रियलिटी में कोई तीर से देखते हैं तो वह 3D मैं होना चाहिए तभी आपको ऐसा महसूस होगा जैसा मानो कि आप उसके अंदर हो और आपके सामने वह सारे फिर से हो रहा है 3D वर्चुअल रियलिटी कंटेंट के लिए कई तरह के तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन आमतौर पर यह दो तरह के Option मैं देखा जाता है पहला Real World 3D Content और दूसरा Computer Software Generated 3D Content

Real World 3D Content: इस तरह के कांटेक्ट के लिए आमतौर पर 360 Degree Camera या फिर Photogrammetry और भी अन्य तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है कृषि को एकदम हकीकत में दिखाने के लिए इन सभी फीचर्स वर्चुअल रियलिटी में डाले होते हैं ताकि जब भी आप उसका इस्तेमाल करें तो आपको एक हकीकत दुनिया की महसूस हो सके।

Computer Software Generated 3D Content: इस तरह के कंटेंट के लिए आमतौर पर Cry Engine, Tvori, Unreal और Unity जैसे प्रोग्राम का इस्तेमाल किया जाता है कांटेक्ट को हकीकत दिखाने के लिए और इन सभी तरीकों का इस्तेमाल करके वर्चुअल रियलिटी काम करता है और एक अलग दुनिया का अनुभव कराता है।

FAQs

VR कैसे काम करता है?

VR मैं एक हकीकत वाले दुनिया बनाने के लिए कंप्यूटर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है जिसमें ऐसा महसूस होता है जैसे मानो हम एक अलग दुनिया में पहुंच चुके हैं और वह दुनिया एकदम हकीकत की दुनिया दिखाई देती है।

वर्चुअल रियलिटी का मतलब क्या होता है?

दोस्तों वर्चुअल रियलिटी का मतलब एक काल्पनिक दुनिया भी हम क्या सकते हैं आमतौर पर वर्चुअल रियलिटी एक नई टेक्नोलॉजी है जिसका इस्तेमाल हम लोग काल्पनिक दुनिया को हकीकत दुनिया से जोड़ने के लिए इस्तेमाल करते हैं यह एक चश्मे जैसा बॉक्स होता है जिसमें आप 3D कॉन्टेंट को देखते हैं और आपको एक अलग दुनिया का अनुभव होता है।

Conclusion

तो दोस्तों आज हमने इस आर्टिकल में Virtual Reality क्या है और कैसे काम करता है इसके बारे में जानकारी हासिल की मुझे पूरी उम्मीद है कि मेरा यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा और आज आपने इस आर्टिकल के माध्यम से कुछ नया सीखा होगा। इस तरह के आर्टिकल्स को पढ़ने के लिए आप हमारे वेबसाइट पर आ सकते हैं धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here