Computer Memory क्या है? और इसके प्रकार?

0
136
computer memory kya hai

हेलो दोस्तों! क्या आप जानते हैं Computer Memory क्या है और इसके प्रकार क्या है अपनी कभी ना कभी कंप्यूटर मेमोरी के बारे में सुना ही होगा अगर नहीं सुना है तो कोई बात नहीं आज मैं आपको इस आर्टिकल के माध्यम से कंप्यूटर मेमोरी क्या है और इसके प्रकार क्या है इसके बारे में जानकारी देने वाला हूं।

अगर आपका यह सवाल है तो आप आज बिल्कुल सही जगह पर आए हो आज आप को इस आर्टिकल के माध्यम से कंप्यूटर मेमोरी के बारे में कई सारी जानकारी जानने को मिलेगा इसीलिए हाफ आर्टिकल के साथ बने रहें और इसे अंत तक जरूर पढ़ें। कंप्यूटर मेमोरी कंप्यूटर का ही एक हिस्सा होता है जो कि डाटा को सुरक्षित स्टोर करने के लिए उपयोग किया जाता है।

अगर मैं इसे आसान भाषा में समझाऊं तो यह एक तरीके का Physical Device होता है जो कि कंप्यूटर में स्थाई तथा अस्थाई तौर पर सारे Data, Information और Instruction को Store करने में काम आता है। अगर कंप्यूटर में कंप्यूटर मेमोरी ना हो तो इन सारे जरूरी डाटा को सुरक्षित तौर पर स्टोर करना बहुत ही ज्यादा मुश्किल हो सकता है।

इसलिए कंप्यूटर मेमोरी का होना बहुत जरूरी होता है ताकि कंप्यूटर में जितने भी डाटा पहले से मौजूद हो उन सभी को एक सुरक्षित जगह पर स्टोर रखने का कार्य कंप्यूटर मेमोरी का होता है आइए मैं आपको कंप्यूटर मेमोरी से जुड़ी सभी Doubts Clear करता हूं।

कंप्यूटर मेमोरी क्या होता है? What is Computer Memory in Hindi

तो सबसे पहले हम जानते हैं कि कंप्यूटर मेमोरी क्या होता है कंप्यूटर मेमोरी एक ऐसा Space होता है जहां पर कंप्यूटर के सारे Data, Information और Instruction को बड़े ही ध्यान से और संभाल के रखा जाता है और उन सभी टाटा को प्रोसेस किया जाता है जब उनकी जरूरत होती है।

अगर इसे आसान भाषा में समझाऊं तो कंप्यूटर मेमोरी हमारे दिमाग की मेमोरी की तरह होती है जो हमारे सभी इंफॉर्मेशन को एक जगह सुरक्षित रखने का काम काम करती है। कंप्यूटर में मेमोरी को आमतौर पर Number के छोटे-छोटे भागों में बांटा जाता है जिन्हे टेक्नोलॉजी भाषा में Cells कहा जाता है। हर Cells या Location की एक Unique Number Address होती है जो कि Varies करती है Zero से Memory Size Minus One तक।

कंप्यूटर मेमोरी किसी भी कंप्यूटर का बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा होता है क्योंकि इसके बिना कंप्यूटर एक Single Task को भी पूरा नहीं कर सकता है इसीलिए कंप्यूटर में कंप्यूटर मेमोरी का होना बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है। कंप्यूटर मेमोरी के दो अलग-अलग Basic Type होते हैं पहला Primary Memory/Volatile Memory और Secondary Memory/Non Volatile Memory

कंप्यूटर मेमोरी के प्रकार

कंप्यूटर मेमोरी के कितने प्रकार होते हैं इस सवाल को इंटरनेट पर रोजाना बहुत सारे लोग सर्च करते हैं और इस सवाल का जवाब ढूंढने की कोशिश करते हैं लेकिन बहुत लोगों को इस सवाल का सटीक जवाब नहीं मिल पाता लेकिन आज आपको इस सवाल का जवाब मिल जाएगा क्योंकि मैं आपको बताने वाला हूं कंप्यूटर मेमोरी के कितने प्रकार होते हैं।

कंप्यूटर मेमोरी अपने आप में बहुत ही बड़ा डिवाइस होता है जिसमें बहुत सारे Functions अपने आप होते रहते हैं कंप्यूटर मेमोरी छोटे-छोटे Task से मिलकर काम करता है अगर आपके कंप्यूटर में कंप्यूटर मेमोरी ना हो तो आपका कंप्यूटर चलाना नामुमकिन सा हो जाता है इसीलिए कंप्यूटर में सबसे जरूरी अगर कोई डिवाइस है तो वह है कंप्यूटर मेमोरी।

कंप्यूटर मेमोरी के मुख्य रूप से तीन प्रकार होते हैं जो कि कुछ इस तरह है –

  1. Cache Memory
  2. Primary Memory/Main Memory
  3. Secondary Memory

Cache Memory क्या होता है?

Cache Memory कंप्यूटर का सबसे तेज मेमोरी में से एक होता है क्योंकि यह बहुत ही High Speed Semiconductor Memory चलाता है जो कि CPU को Speed Up करने में बहुत ही ज्यादा मदद करता है। अगर बात करें इसके कार्य की तो यह CPU और Main Memory के बीच में Buffer की तरह Act करता है।

Cache Memory का इस्तेमाल डाटा और प्रोग्राम के उन हिस्सों को Hold करने के लिए उपयोग किया जाता है जिन्हे CPU के द्वारा लगातार इस्तेमाल किया जाता है। डाटा और प्रोग्राम के हिस्सों को Disk से Primary Memory मैं और फिर प्राइमरी मेमोरी से Cache Memory मैं Operate किया जाता है जहां से सीपीयू उन्हें आसानी से एक्सेस कर सकें।

Primary Memory/Main Memory क्या होता है?

Primary Memory/Main Memory आमतौर पर केवल वही Data और Informations को Hold करता है जिसमें कि कंप्यूटर अभी काम कर रहा है इसमें बहुत ही Fixed Capacity होती है और डाटा इसमें Lost हो जाता है जब पावर को पूरी तरह से बंद कर दिया जाए तो।

Primary Memory/Main Memory आमतौर पर Generally Semiconductor Device से बना हुआ होता है और यह मेमोरीज रजिस्टर के जैसे Fast नहीं होता है। जिन डाटा और इंस्ट्रक्शन को Process करने की आवश्यकता पड़ती है वह इसी Main Memory के अंदर Reside होता है।

प्राइमरी मेमोरी कितने प्रकार के होते हैं?

Primary Memory के दो प्रकार होते हैं जो कि कुछ इस प्रकार है –

  1. RAM
  2. ROM

RAM क्या है?

RAM का फुल फॉर्म होता है Random Access Memory यह एक कंप्यूटर के मेन मेमोरी का हिस्सा होता है जो कि CPU से सीधा Connect रहता है। RAM का इस्तेमाल आमतौर पर डाटा को Read और Write करने के लिए उपयोग किया जाता है जिसे की CPU Randomly Access करता है और RAM एक तरीके का Memory Volatile होता है एक बार Main Switch बंद हो जाता है तो इसमें स्टोर सारे इंफॉर्मेशन Lost हो जाते हैं।

ROM क्या है?

ROM का Full Form होता है Read Only Memory यह मेमोरी एक तरीके का Memory Non Volatile होता है जिसमे की एक बार Main Power बंद हो जाता है तो इसमें स्टोर सारे  Data और Information Lost नहीं होता हैं। ROM को मुख रूप से Calculators और Peripheral Device के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

Secondary Memory क्या होता है?

Secondary Memory कंप्यूटर मेमोरी की तीसरी और आखिरी भाग होती है। इस प्रकार की मेमोरी को हम लोग Non Volatile Memory या फिर External Memory के नाम से जानते हैं इस तरह की मेमोरी काफी ज्यादा Slow होती है मेन मेमोरी की तुलना में और इसका मुख्य इस्तेमाल आमतौर पर Data या फिर Information को पूरी तरह से Permanently Store करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

दोस्तों क्या आपको पता है?

CPU Directly Access नहीं कर सकता है Secondary Memory को इसके लिए सबसे पहले सीपीयू को Input और Output तरीके का इस्तेमाल करना होता है मेरा मतलब यह है कि Secondary Memory के Contents को सबसे पहले Main Memory में Transfer किया जाता है और इसके बाद ही उसके Content को CPU Access कर सकता है जैसे कि उदाहरण के तौर पर CD-ROM, DVD, Flash Drive, Hard Drive इत्यादि।

कंप्यूटर मेमोरी मापने की इकाई (Unit of Computer Memory in Hindi)

दोस्तों जिस तरह से समय को मापने के लिए सेकंड दूरी को मापने के लिए किलोमीटर और वजन को मापने के लिए ग्राम बनाया गया है उसी तरीके से कंप्यूटर मेमोरी की क्षमता को मापने के लिए भी कंप्यूटर मेमोरी की इकाई निर्धारित किया गया है जिसे की हम लोग कंप्यूटर यूनिट भी कहते हैं।

अगर बात करें सबसे छोटी इकाई की तो कंप्यूटर मेमोरी में सबसे छोटी इकाई Bit को कहा जाता है जिसमें केवल एक Binary Digit 0 या फिर 1 ही Store हो सकता है कंप्यूटर मेमोरी को मापने के लिए मैं नीचे आपको एक Table दिखाऊंगा जहां पर आप कंप्यूटर मेमोरी की मापन इकाई बढ़ते हुए क्रम में देख सकते हैं।

1 Bit 0 to 1
4 Bit 1 निब्‍बल
8 Bit 1 Byte
1000 Byte 1 KB
1024 KB 1 MB
1024 MB 1 GB
1024 GB 1 TB
1024 TB 1 PB
1024 PB 1 EB
1024 EB 1 ZB
1024 ZB 1 YB

 

दोस्तों यह है कंप्यूटर मेमोरी को मापने की इकाई जिससे कि आप बड़े ही आसानी से कंप्यूटर मेमोरी की स्पीड को माफ सकते हैं और आप यह देख सकते हैं कि यह कैसा काम कर रहा है आमतौर पर मेमोरी को मापने के लिए इसकी इकाई का इस्तेमाल किया जाता है।

FAQs

कंप्यूटर मेमोरी क्या है समझाएं?

कंप्यूटर मेमोरी एक तरीके की कंप्यूटर का एक हिस्सा होता है जो कि कंप्यूटर में रखे सारे Data और Information को सुरक्षित रूप से Store करने का काम करता है।

कैश मेमोरी कितने प्रकार की होती है?

केस मेमोरी तीन प्रकार के होते हैं L1, L2 और L3

मेमोरी कितने प्रकार की होती है?

मेमोरी मुख्य रूप से तीन प्रकार के होती है सबसे पहला प्राइमरी मेमोरी इसके बाद दूसरा सेकेंडरी मेमोरी और आखिर में कैश मेमोरी।

Conclusion

तो आज हमने इस आर्टिकल में Computer Memory क्या है और इसके प्रकार के बारे में बड़े विस्तार रूप से जाना मुझे पूरी उम्मीद है कि आपको मेरा यह आर्टिकल पसंद आया होगा और मैंने इस आर्टिकल में जितना भी इंफॉर्मेशन आप तक पहुंचाने की कोशिश की है मुझे पूरा उम्मीद है आपको वह सारी चीजें समझ में आई होगी इस तरह के और बेहतरीन आर्टिकल को पढ़ने के लिए आप हमारे वेबसाइट पर आ सकते हैं धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here