Database क्या है? और इसके Model के प्रकार (जानकारी हिंदी में)

0
135
database kya hai

हेलो दोस्तो! आज में आपको इस आर्टिकल में Database क्या है और इसके Model के प्रकार के बारे में जानकारी देने वाले हैं। डेटाबेस एक बहुत ही बड़ा प्लेटफार्म बन जाता है और यहां पर सभी कार्य कंप्यूटर के द्वारा किए जाते हैं लेकिन जो भी लोग कंप्यूटर से जुड़े हुए हैं या फिर जो लोग कंप्यूटर में अपना करियर बनाना चाहते हैं।

उन सभी लोगों को एक जानकारी तो होनी ही चाहिए और वह डाटाबेस की जानकारी है लेकिन अगर आपको नहीं पता है कि डाटाबेस क्या होता है तो घबराने की बात नहीं है आज हम इस आर्टिकल में – इसके बारे में काफी सारी जानकारी जानेंगे और मैं आपको यह भी बताऊंगा कि डाटाबेस क्या है और इसके मॉडल के प्रकार क्या-क्या है।

हम सभी जानते हैं कि आज के समय पूरी दुनिया में डाटा और इंफॉर्मेशन की इतनी ज्यादा मांग होती है अगर डाटा और इंफॉर्मेशन निकालना हो और आप इंटरनेट पर जीत जाते हैं तो कुछ ही सेकंड में आप किसी भी डाटा को बड़े ही आसानी से और कम से कम समय में निकाल लेते हैं।

कभी-कभी हमारे दिमाग में एक सवाल हमेशा आता होगा कि इतना सारा डाटा और इंफॉर्मेशन कहां जमा होता है क्या इंटरनेट पर कोई ऐसी एक जगह है जहां पर हम इतने सारे डेटा और इंफॉर्मेशन को जमा रख सकते हैं या फिर कोई आदमी बैठ कर इन सब को लिखता है तो दोस्तो ऐसा बिल्कुल नहीं है। मैं आपको इस आर्टिकल में डाटाबेस क्या है इसके बारे में गहराई से जानकारी देने वाला हूं।

Database क्या है?

डेटाबेस यह दो शब्दों से मिलकर बना है Data और Base इसका मतलब यह होता है कि एक ऐसी जगह जहां पर बहुत सारे डांटा आपको मिलते हैं आप इसे डाटा का एक बहुत ही बड़ा जगह को भी समझ सकते हैं जहां पर आप को दुनिया भर के डाटा और इंफॉर्मेशन प्राप्त होती है इन सारे डेटा को एक डेटाबेस में वास्तविक तरीके से Store किया जाता है ताकि जरूरत पड़ने पर उन सभी डाटा और इंफॉर्मेशन को निकाला जा सके।

अगर मैं इसे आपको आसान भाषा में समझाने की कोशिश करूं तो इसका मतलब यह होगा कि एक ऐसी जगह जहां पर ढेर सारे टाटा और इंफॉर्मेशन Organised तरीके से जमा किया जाता है जिसके बाद कभी भी किसी को भी किसी के डाटा और इंफॉर्मेशन की आवश्यकता पड़े तो वह इंसान कुछ सेकंड में इंटरनेट की मदद से वह सारा डाटा को निकाल सके।

आज के जमाने में इंटरनेट किसके पास नहीं है हर एक इंसान इंटरनेट चलाना जानता है और इंटरनेट में हमारे जीवन को और भी ज्यादा आसान बना दिया है और उसी बीच डेटाबेस काफी ज्यादा उपयोगी साबित होता है जैसे कि मैं आपको उदाहरण के लिए बताता हूं जितने भी बड़े-बड़े Social Platform है जैसे कि Facebook, Twitter, Youtube इन सारे Platform पर Users अपने डेटा को जमा करता है जैसे कि नाम, नंबर, पता, तस्वीरें इत्यादि।

और जब भी कोई इंसान अपने डाटा को निकालना चाहता है तो वह तुरंत उन सारे वेबसाइट पर जाकर अपने डाटा को निकाल लेता है वह सभी कार्य डाटाबेस के कारण ही संभव हो पाता है इसी तरह जितने भी कॉमर्स पर फैट है जहां से हम लोग Shopping करते हैं जैसे कि Amazon और Flipkart यहां भी कई सारे डाटा को हम लोग जमा करते हैं वह सब भी डेटाबेस में जाकर जमा हो जाता है और हम उसे जब चाहे तब उस डाटा को निकाल सकते हैं।

Database मैनेजमेंट सिस्टम

डेटाबेस मैनेजमेंट कैसे होता है यह भी सवाल हमारे दिमाग में हमेशा आता है तो मैं आपको बता दूं यह एक ऐसा सॉफ्टवेयर सिस्टम होता है इसके जरिए हम एक User, Database को Create, Define, Maintain और कंट्रोल करते हैं। एक ऐसा प्रोग्राम को बनाया गया है जो कि इन सारे डेटाबेस को मैनेज करता है और तरीके से काम करता है।

और उस प्रोग्राम का नाम है DBMS यहां पर मैं आपको एक बात और बताना चाहता हूं यहां पर Maintain का अर्थ यह है जैसे कि इसमें आप यह सब कर सकते हैं जैसे डाटा को डेटाबेस में सेट कर सकते हैं उसमें डिलीट कर सकते हैं उसे Delete कर सकते हैं उसे Access कर सकते हैं उसे Update कर सकते हैं।

DBMS जिसे हम Database Management System के नाम से जानते हैं यही एक ऐसा सिस्टम है जो कि दुनिया के सभी डाटा को बड़े ही संभाल के डेटाबेस में स्टोर करता है। इस सॉफ्टवेयर के जरिए आप डेटाबेस को बड़ी आसानी से बना सकते हैं इसी की मान लीजिए आपने एक डाटाबेस बनाया है किसी छात्र के नाम से और अब आपको उस छात्र के डेटाबेस में और भी कुछ चीजें को Add करना है।

लेकिन गलती से आपने गलत डाटा ऐड कर दिया है तो आपको आपके छात्र के Details को Edit करना होगा कुछ दिनों के बाद आपको यह पता चलेगा कि किसी का डाटा गलत हो चुका है तो आपको उस डाटा को हमेशा के लिए Delete भी करना पड़ेगा और किसी भी छात्र के रोल नंबर से आपको उसका नाम और उसके घर के पता को ढूंढना है तो उसको हम Access बोलते हैं।

Database के Model के प्रकार

अब मैं आपको बताता हूं कि डेटाबेस के मॉडल के कितने प्रकार है डाटाबेस में जितने भी डाटा को तरीके से Store, Organised और Manipulate किया जाता है और उस डेटाबेस को Logical Structure कैसा होना चाहिए यह सारी चीजों को Data Model आप तक इंफॉर्मेशन देता है।

Hierarchicalों मैं आपको एक Example के तौर पर डांटा बेस के मॉडल के प्रकार को समझाने के कोशिश करता हूं जैसे की मन लीजिए मैंने आपको यह बोला कि आप अपने परिवार का कुछ जानकारी हमें लिखकर दे तो आप अपने परिवार के जनकारी को एक Table में बनाकर लिख सकते हैं या फिर दूसरा तरीका आप बिना Table के अपने परिवार के बारे में जानकारी दे सकते हैं और तीसरा आप अपने मां बाप के नाम के नीचे उनके बच्चे के नाम को लिखकर आप अपनी जानकारी को दे सकते हैं।

गिफ्ट इन तरीकों से आप अपने परिवार की जानकारी हम तक पहुंचा सकते हैं बस इसी तरीके को डाटा मॉडल के नाम से हम लोग जानते हैं डाटाबेस डिजाइन में भी इन तीनों तरीकों का इस्तेमाल किया गया है जिसके बारे में मैं आपको एक-एक करके बड़े ही आसान भाषा में समझाने की कोशिश करता हूं।

  1. Hierarchical Model
  2. Network Model
  3. Relational Model

Hierarchical Model

सबसे पहले हम जानते हैं Hierarchical मॉडल को तो Hierarchical मॉडल एक तरीके का Tree Structure जैसा मॉडल होता है इस मॉडल्स में रिकॉर्ड को अपने आप में जोड़ने के लिए Tree Structure को Follow किया जाता है आमतौर पर जब हम एक पेड़ को देखते हैं तो उस पेड़ में हमें डालिया और पत्ते दिखाई देते हैं उसी तरह यहां पर Hierarchical मॉडल भी काम करता है Hierarchical मॉडल में Tree Structure को दर्शाता है।

Network Model

Network Model तो काफी ज्यादा Powerful मॉडल बताया जाता है लेकिन यह बहुत Complicated भी माना जाता है इसमें जितने भी कोशिश होते हैं उनको काफी मुश्किल Process होते हैं इसमें जितने भी Tables होते हैं वह सब एक दूसरे से Linked रहते हैं इसके वजह से डाटा को निकालना थोड़ा सा मुश्किल साबित हो जाता है।

Network Model मैं सारे टेबल्स आपस में जुड़े हुए होते हैं इसकी वजह से यह थोड़ा सा मुश्किल हो जाता है लेकिन यह मॉडल काफी शक्तिशाली होता है इसका मतलब यह है कि आप इस मॉडल की मदद से काफी मुश्किल से मुश्किल डाटा को निकाल सकते हैं।

Relational Model

अब बारी आती है Relational Model की तुलसी मॉडल सभी मॉडल में से सबसे ज्यादा शक्तिशाली और आसान मॉडल माना जाता है इसमें जितने भी तरीके हैं वह काफी ज्यादा आसान और नेचुरल तरीके हैं यह डाटा मॉडल स्ट्रक्चर्ड टेबल की तरह ही दिखता है टेबल को डेटाबेस के भाषा में Relation के नाम से जानते हैं इसलिए इस मॉडल का नाम Relational Model पर गया यह टेबल की तरह होता है जिसमें Rows और Columns होते हैं।

Relational Model मैं जो टेबल्स बनता है उसकी Rows को डेटाबेस की भाषा में Record कहते हैं और Column को Field कहते हैं। इस मॉडल में काफी अलग-अलग Field के Key होते हैं और वह सारे Keys के जरिए टेबल्स को आपस में जोड़ने का काम करते हैं यह बहुत ही ज्यादा आसान होता है और शक्तिशाली भी उतनी ज्यादा होता है।

Database का उपयोग क्या है?

आज के जमाने में इंटरनेट पर आपको जो कुछ दिखाई देता है उन सब के पीछे एक डाटाबेस होता है डेटाबेस के बिना कोई भी डाटा का कोई मतलब नहीं है इसलिए आप यह समझ सकते हैं कि डेटाबेस का उपयोग कहां कहां किया जा सकता है चलिए मैं आप कुछ जगह बताऊंगा जहां पर डेटाबेस का उपयोग होता है।

Shopping Website

जितनी भी इंटरनेट पर आपको शॉपिंग वेबसाइट दिखाई देते हैं उन सभी के पीछे डाटाबेस का उपयोग किया जाता है जैसे कि अगर आप कोई भी सामान को खरीदने जाते हैं ऑनलाइन तब वहां पर आपको अपने बारे में जानकारी देना होता है उसी ऑर्डर लिस्ट को डाटा पेस्ट में स्टोर किया जाता है तो इस तरह शॉपिंग के वेबसाइट में डेटाबेस का उपयोग होता है।

Social Media

जितनी भी सोशल मीडिया का प्लेटफार्म है जैसे कि Whatsapp, Facebook, Instagram, Twitter इन सभी डेट फॉर्म पर डाटाबेस का उपयोग किया जाता है क्योंकि इन सभी प्लेटफार्म पर हम लोग अपने बारे में जानकारी देते हैं चाहे वह तस्वीर हो चाहे वह पता हो चाहे वह हमारा फोन नंबर हो वह सभी चीजों को डेटाबेस में Store किया जाता है।

Online Video

अगर मैं गलत नहीं हूं तो आपने कभी या कभी ऑनलाइन वीडियो फेस देम इन किया होगा तो ऑनलाइन विडियो स्ट्रीमिंग अकेली विधाता फेस scorpio के जाता है क्योंकि ऑनलाइन भी दोस्ती वेबसाइट पर आपने वीडियो सा अलावा Users की जानकारी को भी Database Store करता है।

Banking Work

जब हम बैंक में अपना अकाउंट खुलवा आते हैं तो वहां पर हमें बहुत सारे जानकारी देने होते हैं जैसे कि हमारा नाम हमारा फोन नंबर हमारे घर के पता और भी बहुत तरीके की जानकारी हमें वहां पर जमा कराने पड़ते हैं वहां पर भी डेटाबेस का उपयोग किया जाता है क्योंकि सभी बैंक में आपके नाम और नंबर और पता यह सारा जानकारी डेटाबेस में स्टोर किया जाता है।

FAQS

डेटाबेस कितने प्रकार के होते हैं?

डाटाबेस कई सारे प्रकार के होते हैं जिसमें Single File Database और Multi File Relational Database काफी उपयोग में आते हैं।

डेटाबेस क्या होता है?

डेटाबेस एक ऐसा जगह है जहां पर आपको दुनियाभर के डाटा बड़ी आसानी से उपलब्ध मिल जाते हैं।

डेटाबेस के लाभ क्या है?

डेटाबेस के कई सारे लाभ आपको देखने को मिलते हैं जैसे कि अगर आपको अपना रिजल्ट पता करना है तो आप कहीं पर बैठकर कहीं से भी डाटाबेस की मदद से अपने रिजल्ट को पर ही आसानी से ढूंढ सकते हैं ऐसे और भी कई सारे लाभ हैं जो कि हमें डेटाबेस से मिलता है।

डेटाबेस का उपयोग कहां किया जाता है?

डेटाबेस का उपयोग कई सारे जगहों पर उपयोग किया जाता है जैसे कि बैंकिंग, सोशल मीडिया, शॉपिंग के वेबसाइट और भी कई सारे जगह पर डेटाबेस का उपयोग किया जाता है।

Conclusion

Database क्या है और इसके Model के प्रकार के बारे में मैंने आपको इस आर्टिकल में काफी सारी जानकारी दे दी है दोस्तों मुझे पूरी उम्मीद है कि आपको मेरा याद कर पसंद आया होगा ऐसे और भी आर्टिकल को पढ़ने के लिए आप हमारे वेबसाइट पर Visit कर सकते हैं धन्यवाद!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here