Phone Pay, Google Pay, Paytm यूजर्स को अधिक UPI करने पर देना होगा चार्ज 2024 सरकार का आदेश

0
Advertisements

UPI Payment Limit : नमस्कार साथियों, आज हम लोग बात करने वाले हैं UPI के बारे में। दरअसल, हमारे देश में UPI के कुछ नए नियमों को लागू किया गया है और ये नियम 1 जनवरी 2024 से लागू हो गए हैं। आप सभी ये बात जानते हैं कि यूपीए अब हमारी जिंदगी का एक खास हिस्सा बन गया है। चाहे छोटी छोटी पेमेंट हो या बड़ी से बड़ी हम लोग यूपीए को प्रिफर करते है, बहुत ईजी है, स्कैनिंग करो या मोबाइल नंबर डालो, उसके बाद में कुछ नहीं। बस अमाउंट डाल करके यूपीआइ पिन डालो और सब पेमेंट हो जाती है। बहुत सिम्पल है जिसकी वजह से बहुत ही ज्यादा उपयोग इसका बढ़ता जा रहा है। देश के अंदर ये सभी चीजें बहुत अच्छी है।

Phone Pay, Google Pay, Paytm यूजर्स के लिये नए नियम

चलिए बात करते हैं अब उन परिवर्तनों की जो अभी 1 जनवरी 2024 से लागू हुए है। तो क्या क्या खास बात है? सबसे पहली बात यूपीआई खातों को निष्क्रिय करना है। अब सरकार ने फैसला लिया है। इस साल की यूपीआइ जो अकाउन्ट्स है, अब उनको निष्क्रिय भी किया जाएगा। कब निष्क्रिय किया जाए? क्या स्थिति है यह समझ लीजिए। यहाँ पर यह फैसला किया गया है कि ऐसे अकाउंट जो 1 साल पहले बनाए गए थे लेकिन 1 साल की अवधि में उनसे ज़ीरो ट्रांजेक्शन हुआ है। तो जब आपने ज़ीरो ट्रांजेक्शन किया है तो ज़ीरो ट्रांजेक्शन की स्थिति में अब यहाँ पर जो आदेश है आरबीआई के द्वारा दे दिया गया है।

सभी बैंक्स को और जीतने भी पेमेंट एप्लिकेशन्स है। आप चाहे बैंक में यूज़ कर रहे हो, आप चाहे गूगल पे यूज़ कर रहे हो, आप फ़ोन पे यूज़ कर रहे हो। सभी के लिए एडवाइजरी आई है कि आप अपने जीतने भी यूपीआई से उन यूजर्स को एनालिस कीजिए और इस दौरान उन अकाउंट को ट्रैक कीजिये जिन अकाउंट्स से पिछले एक वर्ष की अवधि में एक भी ट्रांजेक्शन नहीं हुआ है। आपको ऐसे जीतने भी अकाउन्ट्स मिले, उन सभी Accounts को आपने सबसे पहले निष्क्रिय कर देना यानी की उनकी जो यूपीआइडी कर दीजिए।

Read Also: बार स्मार्टफ़ोन हैंग होने की समस्या से छूटकारा पाए वो भी 5 मिनट में, जाने कैसे 

पेमेंट लिमिट में हुई बढ़ोतरी – UPI Payment Limit

लेन देन आपके आधार कार्ड से आपके बैंक अकाउंट से हो रहा है यूपीआई के माध्यम से और साथ ही साथ में आपके पास इतना पैसा है। इस सारी डिटेल वहाँ पे रहती है तो बिलकुल इसी आधार पर ये अपडेट निकल कर आई हैं की जीतने भी लोग अपने सेविंग अकाउंट्स का यूके के माध्यम से अधिक यूज़ करते है और जैसे की 1 दिन की ₹1,00,000 की लिमिट है तो आप 1 दिन में अपने UPI के 1,00,000 तक का इस्तेमाल कर रहे हैं। तो आपका ये जो ट्रांजैक्शन्स है वो बिज़नेस में कंसिडर किए जाएंगे और आप पर हेवी पेनल्टी लगेंगी। आप पे हेवी चार्जेस आपको देने होंगे। और आपका जो UPI है वो व्यापार वाला यूपीआई बना दिया जाएगा जिससे की पर ट्रांजेक्शन पर पर यूपीआई को लेने देने पर आप पर चार्जेज लगाए जाएंगे।

UPI Payment Users की हुई मौज

  • आप जब भी किसी न्यू नंबर पर फर्स्ट टाइम पेमेंट करोगे और वो अमाउंट ₹2000 से ज्यादा है, तो टेक्स लगेगा।
  • इस बीच आप ट्रांजैक्शन को रिवर्स या मॉडिफाई भी कर सकते हो।
  • यूपीए ट्रांजैक्शन लिमिट को ₹1,00,000 से बढ़ाकर ₹5,00,000 कर दिया है। लेकिन ये सिर्फ हॉस्पिटल और  एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स के लिये है।
  • UPI पे लेटर से आप पेमेंट कर सकते हो वो भी ज़ीरो बैंक बैलेंस के साथ क्योंकि बैंक आपको देगी क्रेडिट लाइन और 45 दिन का इंट्रेस्ट।

Read Also: WhatsApp का नया जबरदस्त फीचर, जिससे आपका चैटिंग करने का तरीका बदल जाएगा

UPI Payment के लिये नये नियम लाने के कारण

सेम गाइडलाइन दी गई है बैंक्स के लिए भी कि आपने भी यही काम करना है और चीजों को कंट्रोल रखना है। क्या रीज़न है इसके पीछे? इसके पीछे सबसे बड़ा रीज़न जो बताया वह यह है कि बहुत सारे लोग क्या करते हैं कि उन्होंने अपने बैंक के अंदर कोई एक मोबाइल नंबर रजिस्टर करवा दिया, लेकिन क्या हुआ कि समय बदलने के साथ मोबाइल फ़ोन चोरी हो गया या सिम डीऐक्टिवेट हो गया या रिचार्ज नहीं कराया तो कंपनी वालों ने वहाँ नंबर किसी और को दे दिया। अब आप उस तरफ ध्यान नहीं दे रहे हैं। अकाउंट चल रहा है, काम चल रहा है, कोई दिक्कत नहीं है या फिर UPI use करने की जरूरत नहीं पड़ रही है।

दूसरा कोई अकाउंट है वह यूज़ कर लिया जा रहा है। लेकिन इस दौरान धोखाधड़ी की संभावना है। आपके द्वारा यह जो अकाउंट नंबर यूज़ किया जा रहा था वह अब किसी और के पास पहुँच गया। उस के माध्यम से कोई व्यक्ति अनचाही ट्रांजैक्शन्स कर सकते हैं। तो यहाँ पर सभी बैंक स्कोर पेमेंट्स ऐप्लिकेशन समझाया गया है कि जब 1 साल में कोई ट्रांजैक्शन नहीं हुई तो आप इसको डी ऐक्टिवेट कर दीजिये। अगर जो भी यूज़ हुए है इसको यूज़ करना चाहेगा तो वह दोबारा से खुद ही उसको एक्टिवेट भी कर सकता है जिससे क्या होगा कि कोई अनजान हस्तांतरण भी नहीं होगा और हमारी व्यवस्था में एक वित्तीय सुरक्षा भी सुनिश्चित हो जाएगी।

Read Also: 5G देने वाले सर्विस में हुआ BSNL ऐड जो कि करेगा अब Jio और Airtel की बराबरी

UPI Payment Limit Latest News

अस्पतालों और शैक्षणिक संस्थानों के अंदर आप जो पहले पेमेंट कर सकते थे, उसके अमाउंट को बढ़ा दिया गया है। पहले व्यवस्था ये थी कि सिर्फ ₹1,00,000 तक का ही ट्रांजेक्शन कर सकते थे, चाहे आप हॉस्पिटल के अंदर है या फिर किसी भी इन्स्टिट्यूट के अंदर है तो गवर्नमेंट ने इन चीज़ को एनालिसिस किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here