3D Printer क्या है और उपयोग कैसे होता है? पूरी जानकारी हिंदी में

0
146
3d printer kya hai

हेलो दोस्तों! Printer क्या होता है यह तो हम सभी को पता है हम सभी ने कभी ना कभी प्रिंटर का इस्तेमाल किया है Photocopy करने के लिए या फिर और भी किसी चीज को कॉपी करने के लिए लेकिन क्या आपने 3D Printer के बारे में सुना क्या आप जानते हैं 3D Printer क्या है और उपयोग कैसे होता है?

अगर नहीं तो चिंता की कोई बात नहीं है क्योंकि 3D प्रिंटर के बारे में आज हम इस आर्टिकल में बहुत ही बारीकी से जानकारी हासिल करेंगे आज मैं आपको इस आर्टिकल में बताऊंगा कि आखिरकार 3D प्रिंटर क्या होता है और इसका उपयोग हम कैसे कर सकते हैं। 3D प्रिंटर को हम लोग 3 Dimensional Printer भी कहते हैं असल में यह भी प्रिंटर की तरह ही होता है लेकिन इसमें वस्तु को ठीक उसी तरह प्रिंट किया जाता है जो कि हकीकत में ऐसा होता है।

आपने कभी ना कभी 3डी में फिल्में देखी होंगी आप फिल्म देखने के वक्त ऐसा महसूस करते हैं कि आपके सामने जो भी दृश्य दिखाई दे रहा है वह हकीकत में हो रहा है ठीक वैसा ही प्रिंटर के साथ होता है 3D प्रिंटर में जो किसी भी वस्तु को ठीक उसी के जैसे प्रिंट करने में यह सक्षम हो पाता है।

जैसे जैसे समय आगे बढ़ता जा रहा है टेक्नोलॉजी में बहुत ज्यादा बढ़ोतरी हुई है टेक्नोलॉजी हर दिन कुछ नया लेकर आ रही है अपने में बदलाव कर रही है 2D प्रिंटर हम सभी इस्तेमाल कर चुके हैं हर जगह आपको ऐसा प्रिंटर देखने को मिल जाएगा जो कि फाइल्स को स्कैन करके आपको देता है एक पेज में लेकिन अभी टेक्नोलॉजी काफी ज्यादा Advanced हो गई है और आज हम किसी 3D प्रिंटर के बारे में पूरी जानकारी जानेंगे।

3D प्रिंटर क्या है – What is 3D Printer in Hindi

3D प्रिंटर वस्तु को मनाने के लिए काफी Advanced Process का इस्तेमाल करती है। सामान्य प्रिंटर में आपको सिर्फ पेज पर प्रिंट हुआ चीज Page के माध्यम से मिलता है लेकिन 3D प्रिंटर में ऐसा नहीं होता 3D प्रिंटर में आप जिस भी चीज का प्रिंट निकालना चाहते हैं वह खूब हो आपके सामने प्रिंट होकर निकलता है ऐसा लगता है कि वह हकीकत में सामने आपके हैं।

इस Process में Additive Process का इस्तेमाल किया जाता है इसमें एक Object को बनाने के लिए एक अलग तरीके का Material को Successive Layer मैं एक के ऊपर एक रखा जाता है और जिस चीज को आप प्रिंट करना चाहते हैं वह एकदम हूबहू आपके सामने वस्तु के तौर पर तैयार हो जाता है।

आप इसके हर Layers को बड़े ही आसानी से देख सकते हैं कि वह किस तरीके से तैयार हो रहा है। 3डी प्रिंटिंग पूरी तरह से अलग है इसमें मटेरियल स्कोर धीरे-धीरे छोटे-छोटे टुकड़ों में काटा जाता है एक Milling Machine के इस्तेमाल से और तब जाकर वह एक वस्तु के तौर पर तैयार हो पाता है।

दोस्तों 3D प्रिंटर को इसलिए बनाया गया था ताकि आने वाले समय में बहुत सारी चीजों में बदलाव होने वाला है जिससे कि हम हकीकत में किसी चीज को प्रिंट करके तुरंत निकालना चाहते हैं 3D प्रिंटर के मदद से Complex Shapes को तैयार करने में काफी ज्यादा मदद मिलता है और ऐसा पुराने वाले Method का इस्तेमाल करके होना बहुत ही मुश्किल हो सकता है वहीं पर 3D प्रिंटर का इस्तेमाल बहुत सारी चीजों में होता है।

3D Printer का आविष्कार किसने किया?

आज हम लोग 3D प्रिंटर को इस्तेमाल कर पा रहे हैं तो आखिरकार इस टेक्नोलॉजी को अविष्कार किसने किया वह कौन महान व्यक्ति हैं जिन्होंने इस टेक्नोलॉजी को बनाया ताकि भविष्य में चीजें और भी ज्यादा आसान हो जाए हम सभी के लिए और हम चिड़ी प्रिंटर का इस्तेमाल ज्यादा से ज्यादा अपने काम को आसान करने के लिए करें।

3D प्रिंटर टेक्नोलॉजी का आविष्कार 1984 में Chuck Hull के द्वारा किया गया था उस समय इस टेक्नोलॉजी को बनाया गया था लेकिन इस पर ज्यादा काम नहीं किया गया था क्योंकि उस समय ऐसा माना जाता था कि यह टेक्नोलॉजी इतनी अच्छी नहीं है लेकिन धीरे-धीरे समय के साथ साथ इस टेक्नोलॉजी पर और काम होता गया और आज हम 3D प्रिंटर का इस्तेमाल बड़े ही आसानी से कर सकते हैं।

3D Printer का उपयोग कैसे होता है?

मैंने आपको बताया 3D प्रिंटर क्या होता है अब आपके मन में एक सवाल जरूर आ रहा होगा कि आखिरकार 3D प्रिंटर का इस्तेमाल कैसे होता है और किन-किन चीजों में 3D प्रिंटर का इस्तेमाल किया जाता है तो 3D प्रिंटर आज से नहीं बल्कि कई सालों से उपलब्ध है लोगों के बीच में है लेकिन इसकी लोकप्रियता कुछ ही साल पहले हुई है और इसके उपयोग में काफी ज्यादा वृद्धि हुई है।

3D प्रिंटर का इस्तेमाल इसलिए ज्यादा लोग अभी कर रहे हैं क्योंकि 3D प्रिंटर हर क्षेत्र में बहुत काम में आ रहा है यह एक ऐसा टेक्नोलॉजी है जिससे लोगों का समय और मेहनत काफी बचता है और बहुत अलग-अलग क्षेत्रों में इस एप्लीकेशन को इस्तेमाल किया जा रहा है जिसकी वजह से 3D प्रिंटर काफी ज्यादा लोकप्रियता में है।

जब 3D प्रिंटर को बनाया गया था तब उस समय इसके Materials और Model काफी ज्यादा महंगे आते थे जिसकी वजह से लोग इस प्रिंटर को इस्तेमाल नहीं कर पाते थे लेकिन अभी कुछ ही समय पहले 3D प्रिंटर के मॉडल और मटेरियल में काफी ज्यादा गिरावट आया है जिससे कि लोग इस टेक्नोलॉजी को उपयोग करना शुरू कर दिए हैं और 3D प्रिंटर इंडस्ट्री से लेकर शिक्षा के क्षेत्र में इस्तेमाल किया जा रहा है। 3D प्रिंटर के कुछ मुख्य उपयोग है जिसके बारे में मैं आपको नीचे एक एक करके बताता हूं।

3D प्रिंटर शिक्षा में उपयोग किया जा रहा है?

सबसे पहला उपयोग शिक्षा में किया जा रहा है हम सभी को पता है शिक्षा हमारे लिए कितना जरूरी है हर दिन ज्यादा से ज्यादा स्कूल में आप 3D प्रिंटर को देख रहे होंगे 3D प्रिंटर तरीका स्कूलों में बहुत ज्यादा चल रहा है और शिक्षा के लिए 3D प्रिंटर काफी ज्यादा लाभदायक भी साबित हो रहा है।

स्कूलों में 3D प्रिंटर का लाभ यह है कि यह छात्रों को महंगे Tools की जरूरत के बिना ही Prototype बनाने में सक्षम हो पा रहे हैं और छात्रों को उनके भविष्य के लिए एक बेहतर तरीका सबको दे पा रहे हैं। छात्र कंप्यूटर में मॉडल डिजाइन और मॉडल को प्रिंट करके 3D प्रिंटर के मदद से वह लोग हकीकत में अपने डिजाइन को प्रिंट कर पाते हैं।

जिससे कि उनके अच्छे भविष्य में काफी ज्यादा मदद हो रही है क्योंकि जब भी हम कुछ नया सोचते हैं और उसे एक पेज पर या फिर स्क्रीन पर दर्शाते हैं तो कहीं ना कहीं वह हमारे सोच तक ही सीमित रह पाती है लेकिन जब हम Physically किसी चीज को देखते हैं तब जाकर हमें पता चलता है कि वह कितने काम का है और उसमें क्या-क्या और काम करना बाकी है तो 3D प्रिंटर शिक्षा के क्षेत्र में बहुत ज्यादा फायदेमंद साबित हो रहा है।

3D प्रिंटर प्रोटोटाइपिंग और निर्माण में काम आ रहा है?

प्रोटोटाइपिंग एक ऐसा प्रोसेस है जिसमें की डिजाइन करने वाले लोग कुछ नया विचार करते हैं और उसे प्रयोग भी करते हैं और फिर अपने विचार को हकीकत में जीवित करते हैं। 3D प्रिंटर को सबसे पहले प्रोटोटाइपिंग के क्षेत्र में उपयोग किया गया था जिससे कि लोगों का Ideas काफी आगे तक जाए।

जब भी हम किसी भी प्रोटोटाइप को बनाते हैं तो उसमें हमें बहुत समय लगता है और हमें उसे बहुत मेहनत करना पड़ता है लेकिन 3D प्रिंटर टेक्निक की वजह से ऐसे प्रोटोटाइप मैन्युफैक्चरिंग में काफी ज्यादा समय की बचत होती है और यह कुछ ही घंटों में एक अच्छा सा प्रोटोटाइप तैयार कर देता है। पहले के समय में एक पूर्व टाइप बनाने में हफ्तों का समय लग जाता था लेकिन जब से 3D प्रिंटर आया तब से कुछ ही घंटों में काफी कम लागत में प्रोटोटाइप तैयार हो जाता है।

चिकित्सा निर्माण में 3D प्रिंटर का उपयोग किया जा रहा है

पहले कुछ सालों में चिकित्सा क्षेत्र में दुनिया के सबसे बेहतरीन तकनीक 3D प्रिंटर का इस्तेमाल किया जाने लगा है। और जब से 3D प्रिंटर का इस्तेमाल चिकित्सा निर्माण में शुरू हुआ है तब से चिकित्सा निर्माण को काफी ज्यादा मदद मिली है और वे Bioprinting और Biomaterials जैसे की कोशिकाएं और वृद्धि कारक अपने नकल करने वाले टिशूज को हकीकत में बना सकते हैं।

3D प्रिंटर की मदद से जो भी रोगी होते हैं उन सब का सही से मां के साथ Prosthetics को काफी कम लागत में मॉडलिंग और प्रिंट किया जाता है। जिससे कि डॉक्टरों को काफी ज्यादा आसान हो जाता है अपने काम को पूरा करने के लिए 3D प्रिंटर कहीं ना कहीं हर क्षेत्र में बहुत काम की चीज है और धीरे-धीरे यह और भी अच्छी होती जाएगी।

मनोरंजन में 3D प्रिंटर का इस्तेमाल किया जा रहा है

3D प्रिंटर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल शिक्षा में और चिकित्सा क्षेत्र में तो किया जाए रहा है उसी के साथ साथ 3D प्रिंटर टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल मनोरंजन और फिल्में बनाने के लिए भी किया जा रहा है। फिल्म इंडस्ट्री के लिए 3D प्रिंटर उनके लिए मनपसंद अटोल बन चुका है क्योंकि इसमें वह Ability है जिससे कि हम जो चाहे वह वस्तु को अपने हाथों से बना सकते हैं और उसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

फिल्म इंडस्ट्री में 3D प्रिंटर का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है क्योंकि अलग-अलग लोगों की अलग-अलग सोच है और वह अपने सोच को हकीकत में बदलना चाहते हैं इसीलिए वह अपने फिल्मों में 3D प्रिंटर के मदद से बनाए हुए वस्तु का इस्तेमाल करते हैं और यह काफी जल्दी बन जाता है और इसमें काफी कम लागत लगती है इसलिए इसका उपयोग ज्यादा किया जाता है।

3D Printer कैसे काम करता है?

3D प्रिंटर किसी भी काल्पनिक वस्तु को हकीकत में बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है यह एक तरीके का 3D मॉडलिंग प्रोग्राम होता है जैसे कि CAD (Computer-Aided Design) द्वारा बनाए गए डिजिटल डिजाइन या फिर किसी भी मौजूदा 3D वस्तु को Scan करके उसे हकीकत में बनाया जाता है।

Scanner वस्तु की Copy को बनाकर फिर उसे एकदम 3D मॉडलिंग प्रोग्राम में डाला जाता है और फिर डिजाइन को डिजिटल फाइल में बदल दिया जाता है जो कि उस मॉडल की सैकड़ों और हजारों Layers बनाती हैं। 3D प्रिंटर में डिजाइन की हर एक Layers को अच्छे से Read करता है और इसके बाद उसे एक साथ प्रिंट किया जाता है जिसका परिणाम हम एक 3D वस्तु को सामने बने हुए देख पाते हैं।

3D Printer के फायदे

  • दोस्तों 3D प्रिंटर के कई सारे फायदे हैं जैसे कि 3D प्रिंटर का इस्तेमाल से हम अपने किसी भी विचार को हकीकत में बना सकते हैं जो कि हमारे भविष्य को बेहतर बनाने में बहुत ही मददगार साबित होगा।
  • 3D प्रिंटर में समय और मेहनत दोनों में काफी बचत होती है जिसकी वजह से जिन चीजों को बनाने में इन लोगों को पहले हफ्तों का समय लगता था अब वह 3D प्रिंटर के इस्तेमाल से कुछ ही घंटों में अपने काम को पूरा कर पाते हैं।
  • सिगड़ी प्रिंटर में सबसे बड़ा फायदा तो यह भी है कि यह कम लागत में किसी वस्तु को हकीकत में तैयार कर देता है।
  • 3D प्रिंटर में गलती होने का संभावना बिल्कुल ना के बराबर होता है।

FAQs

3D प्रिंटर का उपयोग क्या है?

दोस्तों 3D प्रिंटर का उपयोग हम कई अलग-अलग क्षेत्रों में कर सकते हैं जैसे कि 3D प्रिंटर का इस्तेमाल शिक्षा के क्षेत्र में ज्यादा किया जाता है ताकि बच्चे अपने भविष्य को आज हकीकत में देख सकें 3D प्रिंटर का उपयोग और भी कई सारे चीजों में किया जाता है जिसके बारे में मैंने आपको ऊपर आर्टिकल में बताया है।

3D प्रिंटर को कब बनाया गया था?

3D प्रिंटर को साल 1984 में बनाया गया था।

3D प्रिंटर के खोजकर्ता कौन है?

3D प्रिंटर के खोजकर्ता Chuck Hull है।

3D प्रिंटर क्या बहुत महंगी होती है?

वैसे तो जब 3D प्रिंटर को तैयार किया गया था तब इसके Models और Materials काफी ज्यादा महंगे आते थे लेकिन कुछ साल पहले इसके मैटेरियल्स में और मॉडलिंग में काफी ज्यादा गिरावट आई है जिसकी वजह से अब यह बिल्कुल भी महंगी नहीं है।

Conclusion

तो दोस्तों आज हमने इस आर्टिकल में 3D Printer क्या है और उपयोग कैसे होता है इसके बारे में काफी सारी जानकारी हासिल की मुझे पूरी उम्मीद है कि आपको मेरा यह आर्टिकल पसंद आया होगा और आज आपने इस आर्टिकल से कुछ ना कुछ नया तो जरूर सीखा होगा। इस तरह के आर्टिकल्स को पढ़ने के लिए आप हमारे वेबसाइट पर आ सकते हैं धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here